मथुरा में देखिए तूफान और मौत का मंजर!

मथुरा। उत्तर भारत में सात और आठ मई को तूफान की आहट से लोग डर में समाए रहे। लेकिन तेज आंधी और बारिश ने कई राज्यों में करीब सवा सौ लोगों की जान ले ली।
यूपी के मथुरा में नौ मई को आई तेज आंधी-बारिश और ओलावृष्टि ने कई लोगों की जिंदगी छीन ली, मथुरा के टेडी गांव में खेत में बिजली का पोल गिरने से एक वृद्धा की दर्दनाक मौत हो गई।
55 वर्षीय शकुंतला जंगल में बकरी चराने गई थी कि अचानक ओलों के साथ तेज बारिश और आंधी आ गई। सभी लोग अपने-अपने घरों की ओर दौड़ने लगे। बारिश से बचने के लिए शंकुतला एक कमरे की ओर दौड़ी कि उसके ऊपर बिजली का पोल गिर गया।
जिसके चलते शंकुतला की मौके पर ही तड़प-तड़प कर मौत हो गई। कुछ देर बाद परिजन ग्रामीणों के साथ जंगल में पहुंचे और शंकुतला के शव के पास बैठकर फूट-फूटकर रोने लगे। ग्रामीणों ने बताया कि जो बिजली का पोल शंकुतला के ऊपर गिरा उस पर तार नहीं थे।
तेज आंधी और हल्की बारिश के दौरान काफी देर तक ओले भी पड़े जिससे पशु-पक्षियों ने इधर-उधर भागकर जान बचाई। वहीं टेंटी गांव में आंधी सें एक पेड़ मकान पर गिया, जिससे मकान भरभराकर गिर पड़ा।
हादसे में वृद्ध महिला गंभीर रुप से घायल हो गई। आसपास के लोगों ने मौके पर पहुंचकर वृद्धा को मलबे से बाहर निकाला।
वृद्ध के बेटे ने बताया कि उनकी मां को पूरे शरीर में गंभीर चोटें आई हैं। शासन-प्रशासन को चाहिए कि प्राकृतिक आपदा के शिकार हुए परिवारों का आर्थिक सहायता मुहैया कराए।