चीन-पाक के आर्थिक गलियारे ने बढ़ेगा भारक पाक के बीच तनाव : अमेरिका


वॉशिंगटन,भाषा।
चीन-पाकिस्तान मिल कर अरबों डॉलर की लागत से आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) बना रहा है। ताकि दक्षिण एशियाई देशों में चीन की पैठ और मजबूत हो। इससे भारत पाक के बीच बढ़ेगा। यह कहना है अमेरिका शोध संस्थान के माइकल कुगेलमैन का।
सीपीईसी पर भारत की प्रतिक्रिया का जिक्र करते हुए कुगेलमैन ने कहा कि इसको लेकर भारत को सबसे ज्यादा आपत्ति गिलगित-बाल्टिस्तान में निर्मित होने वाली परियाजनाओं पर है। भारत बीआरआई (बेल्ट और सड़क पहल) का औपचारिक रूप से विरोध नहीं कर रहा है बल्कि उसने अपनी चिंताओं को सीपीईसी तक सीमित कर रखा है, जिसे भारत अपनी संप्रभुता का उल्लंघन मानता है।

इसी तरह की खबर