आज ही के दिन हुआ था संसद पर हमला

शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि
नई दिल्ली, भाषा। संसद पर आज ही के दिन 13 दिसंबर 2001 को आतंकी हमला हुआ था। इस हमले को अंजाम देने के लिए आतंकियों ने सफेद एंबेसडर कार चुनी थी। ऐसा इसलिए था क्योंकि इस कार की पहचान करना काफी मुश्किल था क्योंकि संसद भवन में इस तरह की कार आमतौर पर देखी जा सकती थीं। आतंकियों की इस कार पर गृह मंत्रालय का एक स्टीकर भी लगा था।

हालांकि संसद में प्रवेश आसान नहीं होता है और इसमें प्रवेश करने वाले हर व्यक्ति और वाहन की पूरी जांच की जाती है। आतंकियों ने हमले के लिए वह समय चुना था जब संसद सत्र चल रहा था और अधिकतर सांसद संसद भवन में मौजूद थे। उस दिन ताबूत घोटाले को लेकर विपक्ष का हंगामा अपने चरम पर था। हंगामे के चलते संसद के दोनों सदनों को 40 मिनट के लिए स्थगित कर दिया गया था।

इस बीच पीएम अटल बिहारी बाजपेयी और सोनिया गांधी अपने आवास के लिए निकल चुके थे और बाकी के सांसद कैंटीन में चाय नाश्ते और अपनी चर्चाओं में मशगूल थे। किसी को अंदाजा भी नहीं था कि अगले चंद लम्हों के क्या भयानक हादसा होने वाला है।

 


हमला सुबह के करीब 11 बजकर 29 मिनट पर पांच आतंकियों ने किया था। आतंकी हाथों ने एके-47 लिए हुए थे और गोलिया बरसा रहे थे। सुरक्षाकर्मियों ने तुरंत मोर्चा संभालते हुए सांसदों और मीडिया कर्मियों को सदन में महफूज जगह पहुंचाकर सदन का गेट बंद कर दिया। करीब 30 मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चलती रहीं और पांचों आतंकियों को ढेर कर दिया गया।

 


संसद पर हमले की साजिश रचने वाले मुख्य आरोपी अफजल गुरु को दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया। संसद के हमले के मास्टर माइंड मोहम्मद अफजल ने बताया कि हमले के पांचों आतंकवादी पाकिस्तानी थे। इनका मकसद राजनेताओं को खत्म करना था। उसने यह भी स्वीकार किया कि उन्होंने इन आतंकियों की मदद की थी और वह अफजल गुरु गाजी बाबा के संपर्क में था। खुद अफजल गुरु ने पाकिस्तान में ढ़ाई महीने की आतंकी ट्रेनिंग ली थी। साजिश रचने के आरोप में पहले दिल्ली हाइकोर्ट द्वारा साल 2002 में और फिर उच्चतम न्यायालय द्वारा 2006 में फांसी की सजा सुनाई गई थी। उच्चतम न्यायालय द्वारा भी फांसी सुनाए जाने के बाद गुरु ने राष्ट्रपति के समक्ष दया याचिका दायर की थी, जिसको तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने खारिज कर दिया था। नौ फरवरी 2013 को सुबह दिल्ली के तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई।

इसी तरह की खबर